0 1 min 5 mths

-सुरक्षा अधिकारी एवं कालजी मैनेजर मशगूल है भ्रष्टाचार और कमीशन खोरी में

-जिनकी लापरवाही की बदौलत हुआ यह हादसा

हेमचंद सोनी/दीपका –

देश में सर्वाधिक कोयला उत्पादन करने वाली कोयला खदान गेवरा परियोजना इन दोनों हादसे की खदान बनते जा रही है जहां आज फिर खदान के भीतर कोयला उत्खनन कार्य में लगी एक प्राइवेट कंपनी रुंगटा में कार्यरत ड्राइवर हीरा राठौर की एक्सीडेंट में मृत्यु हो गई उल्लेखनीय है कि जब से कालरी मैनेजर के पद पर प्रसाद एवं प्रोजेक्ट में सेफ्टी ऑफिसर के पद पर मेहरा की नियुक्ति हुई है तब से लगातार खदान में दुर्घटनाएं घट रही हैं जिसका एकमात्र कारण इन दोनों अधिकारियों की अपने कार्य के प्रति लापरवाही और केवल कमीशन खोरी एवं भ्रष्टाचार में लिप्त रहने के कारण यह स्थिति निर्मित हो रही है पिछले कुछ दिनों से लगातार दुर्घटनाएं घट रही हैं और लोग इन दुर्घटनाओं की चपेट में आकर मौत का शिकार हो रहे हैं वावजूद इसके यह दोनों अधिकारी भ्रष्टाचार और कमीशन खोरी से वाज नहीं आ रहे हैं और लगातार हादसों के कारण देश की सबसे बड़ी कोयला खदान हादसों की खदान बनते जा रही है।

आज घटित हुई दुर्घटना में ट्रक चालक हीरा राठौर की दुखद मृत्यु हो गई जिसके उचित मुआवजे की मांग को लेकर रुंगटा कंपनी के सभी ड्राइवर हड़ताल कर रहे हैं हालांकि मुआवजे से मृत्यु की भरपाई उस परिवार के लिए नहीं हो सकती जिनका यह सहारा था और परिवार के लालन-पालन के लिए ड्राइवरी कर अपना गुजारा कर रहा था यह स्थिति कलारी मैनेजर प्रसाद और सुरक्षा अधिकारी मेहरा की लापरवाही का नतीजा है इन दोनों को तत्काल पद से हटाकर उनके विरुद्ध कड़ी कानूनी कार्यवाही करनी चाहिए अन्यथा देश की इस बड़ी कोयला खदान में दुर्घटनाओं का दौर जारी रहेगा। और यह खदान कोयला उत्पादन की खदान के जगह हादसे उत्पादन करने वाली खदान बनकर रह जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *