राम मंदिर की सुरक्षा में तैनात जवान की गोली लगने से मौत

अयोध्या में राम मंदिर परिसर में बुधवार सुबह एक जवान की गोली लगने से मौत हो गई. शुरुआती जांच में इसे आत्महत्या का मामला माना जा रहा है. शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया है. रिपोर्ट आने के बाद मौत की असल वजह स्पष्ट हो पाएगी. मृत जवान के साथियों ने बताया कि वो कुछ दिन से किसी बात को लेकर परेशान चल रहा था. फिलहल पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है.

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर की सुरक्षा में तैनात SSF के जवान की गोली लगने से मौत हो गई. घटना बुधवार सुबह 5 बजकर 25 मिनट की है. जवान का नाम शत्रुघ्न विश्वकर्मा था. 25 साल का शत्रुघ्न अंबेडकरनगर का रहने वाला था. राम मंदिर परिसर में सुबह गोली चलने की आवाज आई. गोली की आवाज सुनकर साथी सुरक्षाकर्मी मौके पर पहुंचे. वहां देखा कि शत्रुघ्न खून से लथपथ हालत में पड़ा हुआ है. उसे गोली लगी थी. साथी जवान उसे अस्पलात लेकर पहुंचे. यहां से घायल जवान को ट्रामा सेंटर रेफर किया गया. लेकिन वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

जवान की मौत से अयोध्या मंदिर परिसर में हड़कंप मच गया. आईजी और एसएसपी मौके पर पहुंचे. उन्होंने खुद घटनास्थल की जांच की. फॉरेंसिक टीम ने भी मौके पर पहुंचकर जांच की. शुरुआती जांच में इसे आत्महत्या का मामला माना जा रहा है. फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया है. रिपोर्ट आने के बाद मौत की असल वजह स्पष्ट हो पाएगी.

शत्रुघ्न विश्वकर्मा 2019 बैच का था. अंबेडकरनगर के थाना सम्मनपुर के गांव कजपुरा का रहने वाला था. एसएसएफ में तैनात था. एसएसएफ फोर्स को चार साल पहले योगी सरकार ने मंदिर की सुरक्षा के लिए गठित किया गया है. मृत जवान के साथियों ने बताया कि घटना से पहले शत्रुघ्न मोबाइल देख रहा था. वह कुछ दिन से किसी बात को लेकर परेशान भी चल रहा था. पुलिस ने उसका मोबाइल भी जांच के लिए भिजवाया है. पुलिस ने मृत जवान के परिवार को सूचना दे दी है. परिजन मौके पर पहुंच गए हैं. उनका रो-रोकर बुरा हाल है. परिवार वालों को यकीन ही नहीं हो रहा कि शत्रुघ्न अब इस दुनिया में नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *