बड़गई में आयोजित जनसमस्या निवारण शिविर में हितग्राही मूलक योजनाओं से ग्रामीण हुए लाभान्वित

-भोंगापाल से बड़गई और कुलानार से बड़गई के बीच सड़क निर्माण की मिली स्वीकृति

-पौधे, बीज मिनीकिट, व्हीलचेयर, आयुष्मान कार्ड, सिकलसेल जेनेटिक कार्ड, राशनकार्ड, श्रमिक कार्ड और वन अधिकार पट्टा का वितरण

कोंडागांव – ज्योति कुमार कमलासन

छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय के निर्देश पर जिला प्रशासन द्वारा सुशासन की ओर कदम बढ़ाया जा रहा है। जिसके लिए दुरस्थ ग्रामीण अंचलों में जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। शिविर में जिले के सभी अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहते है और ग्रामीणों से प्राप्त समस्याओ के त्वरित निराकरण के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए गए है। इसी के तहत् कोंडागांव जिले के फरसगांव विकासखण्ड के दुरस्थ ग्राम बड़गई में जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें ग्रामीणों से विभिन्न समस्याओं को लेकर 398 आवेदन प्राप्त हुए।

शालाओं में पोषक आहार प्रदाय किया जाएगा, जिससे जिलेे में सभी बच्चे पोषित एवं स्वस्थ रहे – कलेक्टर

शिविर में पहुंचे कलेक्टर कुणाल दुदावत ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि जनता द्वारा दिए गए आवेदनों के निराकरण पर मेरे स्वयं के द्वारा निगरानी की जा रही है, जिससे लोगों की समस्याओं का समाधान शीघ्र हो सके। उन्होंने कहा कि नए शैक्षणिक सत्र के आरंभ के साथ ही शालाएं खुल गई हैं। शालाओं में शिक्षा के साथ ही पोषक आहार भी प्रदाय किया जाएगा, जिससे कोंडागांव जिलेे में सभी बच्चे पोषित एवं स्वस्थ हों। उन्होंने ग्रामीणों से सभी बच्चों को आयु अनुसार स्कूल एवं आंगनबाड़ी केन्द्र भेजने, गर्भवती माताओं तथा किशोरी बालिकाओं से महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ लेने की अपील की।

विधायक द्वारा ग्रामीणों की वर्षो पुरानी दो सड़क निर्माण की मांग स्वीकृती की घोषणा

शिविर के मुख्य अतिथि केशकाल विधायक नीलकंठ टेकाम ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय की सरकार जनता की समस्याओं के निदान के लिए प्रतिबद्ध है। जनता अपनी समस्याएं प्रशासन के समक्ष रख सके, इसके लिए अच्छा अवसर है। विधायक के द्वारा इस शिविर में ग्रामीणों की वर्षो पुरानी दो मांग जिसमे भोंगापाल से बड़गई और कुलानार से बड़गई के बीच सड़क निर्माण की स्वीकृति प्रदान करने की घोषणा की गई। इसके साथ ही बारदा नदी के किनारे विद्युतीकरण हेतु स्वीकृत कार्य पर भी तेजी से किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बारदा और कोनगुड़ के बीच सीमा विवाद तथा दुगली में भूमि संबंधी विवाद का भी शीघ्रता से समाधान किया जाएगा।

वनों की कटाई की भरपाई के लिए जरूरी है वृक्षारोपण

विधायक तथा कलेक्टर के द्वारा गर्भवती महिलाओं की गोदभराई तथा शिशुओं का अन्नप्रासन्न भी कराया गया। वृक्षों की रक्षा का संदेश देने विधायक, कलेक्टर एवं एसपी ने स्कूल प्रांगण में वृक्षारोपण किया और ग्रामीणों को अधिक से अधिक वृक्षारोपण करने और वनों की रक्षा करने की अपील की। विधायक ने कहा की वनों अंधाधुंध कटाई की भरपाई के लिए हर व्यक्ति को वृक्षारोपण करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *