बलरामपुर में जिले का पहला ज्ञानोदय लाइब्रेरी का हुआ शुभारंभ

संवाददाता/विकास कुमार यादव

बलरामपुर /ग्रामीण युवाओं में ज्ञान और कौशल की क्षमता विकसित करने के लिए मुख्यमंत्री बलरामपुर जिला मुख्यालय से लगे हुए ग्राम पंचायत भनौरा में जिले के पहले आधुनिक संचार से सुविधायुक्त ज्ञानोदय वाचनालय का शुभारंभ किया गया.

बलरामपुर में ग्रामीण क्षेत्रों में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले युवाओं को आवश्यक सुविधा मुहैया कराने के उद्देश्य से पुस्तकालय की तर्ज पर स्थापित ज्ञानोदय वाचनालय में विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के किताबों के साथ साथ वाई-फाई युक्त परिसर तथा कम्प्यूटर और प्रोजेक्टर की भी व्यवस्था की गई है। जिसका उद्देश्य ग्रामीण युवाओं को विभिन्न स्तर पर आयोजित होने वाले प्रतियोगी परीक्षाओं में भाग लेने के लिए प्रेरित करना है.

कलेक्टर रिमिजियुस एक्का ने जानकारी देते हुए बताया कि लाइब्रेरी में सीजीपीएसी, यूपीएससी, सीजीटेट और व्यापम जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले युवाओं के लिए किताबों का संकलन रखा जाएगा. कलेक्टर ने ग्राम पंचायत स्तर पर गठित शिक्षा समिति को ज्ञानोदय वाचनालय के निरंतर संचालन और रख-रखाव के संबंध में भी दिशा-निर्देश दिए.

इस दौरान कलेक्टर रिमिजियुस एक्का ने जानकारी देते हुए बताया कि छत्तीसगढ़ शासन पंचायत एवं ग्रामीण विकास के निर्देशानुसार प्रथम चरण में जिले के कुल 22 ग्राम पंचायतों का चयन ज्ञानोदय वाचनालय के लिए किया गया है। चिन्हित ग्राम पंचायतों के वाचनालय में फ्री वाई-फाई, पुस्तकें तथा डिजिटल ई-लाईब्रेरी की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी तथा स्थानीय व्यवस्था के अनुरूप कंप्यूटर, प्रोजेक्टर की सुविधा भी उपलब्ध दी जाएगी। इस दौरान उन्होंने वाचनालय में पुस्तकों के संकलन का अवलोकन करते हुए अन्य आवश्यक पुस्तकें उपलब्ध कराने की बात कही.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *