‘जय फिलिस्तीन’ के नारे लगाने पर असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ, विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल ने जंतर-मंतर पर किया विरोध प्रदर्शन

संसद में शपथ लेने के दौरान एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के ‘जय फिलिस्तीन’ के नारे लगाने पर सियासत थमने का नाम नहीं ले रही है। इस मुद्दे पर ओवैसी के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन और बयानबाजी का दौर जारी है

दिल्ली में विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल के सदस्यों ने संसद में शपथ ग्रहण समारोह के दौरान ‘जय फलिस्तीन’ नारे को लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) और हैदराबाद सांसद असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान दोनों संगठनों के सदस्यों ने जमकर नारेबाजी की। बताया जा रहा है कि पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प भी हुई है। दिल्ली पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए बैरिकेडिंग की थी। दोनों संगठनों के सदस्यों ने बैरिकेडिंग के ऊपर चढ़कर नारेबाजी की। उनके हाथों में ओवैसी की आपत्तिजनक तस्वीरें भी देखी गई हैं। विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के सदस्यों ने जंतर-मंतर पर सांसद असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन कर ओवैसी का पुतला जलाया। प्रदर्शन में भारी संख्या में कई संगठनों के सदस्य शामिल रहे।

दरअसल, 25 जून को संसद में शपथ ग्रहण के दौरान सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने “जय फिलिस्तीन” का नारा लगाया था। इसी बात से हिंदूवादी संगठन नाराज हैं। दो दिन पहले अज्ञात लोगों ने उनके सरकारी आवास पर इजरायल के समर्थन में पोस्टर भी लगाए थे।

वहीं, कई राजनीतिक दलों के नेता भी असदुद्दीन ओवैसी के नारे पर नाराजगी जाहिर कर चुके हैं। बाद में सभापति ने इसे रिकॉर्ड से हटाने का निर्देश दिया।

ओवैसी ने इस बयान को लेकर बाद में पत्रकारों से कहा, “जो मैंने कहा वो आपके सामने है। सब बोल रहे हैं। क्या नहीं बोले। ये किसके खिलाफ है आखिर। बताइए संविधान का कौन सा प्रोविजन है। जो लोग विरोध करते हैं, उनका काम ही वही है। छोड़िए, अब क्या कर सकते हैं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *