निगम आयुक्त निगम के महापौर सरकार के नियम कानून का धज्जिया उड़ा रहे – शिव वर्मा

पार्षद निधि से मूर्तियां लगाने का प्रावधान ही नहीं है

राजनंदगांव – संजय सोनी

नगर निगम के पूर्व अध्यक्ष शिव वर्मा ने निगम प्रशासन पर सीधे आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार के ही बनाए गए नियम कानून को दर किनारा कर सरकार का नियम कानून का अवहेलना कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि निगम आयुक्त नियम कानून के ज्ञाता ही सरकार के नियम कानून का पालन करने के बजाय खुद ही गलत करें तो विभाग के अन्य अधिकारी कर्मचारी क्या करेगा। उन्होंने कहा कि शासन के द्वारा पार्षद निधि की राशि पर गाइडलाइन तैयार कर निगम प्रशासन को भेजा है।

श्री वर्मा ने आगे कहा कि पार्षद निधि के अंतर्गत कराए जाने वाले कार्य शासन के द्वारा 12 बिंदुओं पर दिशा निर्देश दिया गया है। 1, शासकीय शालाओं में विद्यार्थियों के बैठक व्यवस्था के लिए फर्नीचर 2, पाइपलाइन विस्तार 3, जिम सामग्री 4, मूत्रालय का निर्माण 5, छोटे उद्यान का निर्माण 6, मुक्तिधाम का उन्नयन 7, डोर टू डोर कचरा संग्रह के लिए ऑटो रिक्शा या डस्टबिन 8, शासकीय स्कूल या अनुदान स्कूल में उद्यान का निर्माण 9, नवीन सड़क या नाली निर्माण 10, सामुदायिक भवन मरम्मत या भवन निर्माण 11, छत्तीसगढ़ विद्युत मंडल के माध्यम से विधुत खंबा का विस्तार या ट्रांसफार्मर का विस्तार 12, वार्ड में उपयुक्त स्थान पर बस स्टॉप का निर्माण किया जाएगा।

निगम प्रशासन एवं महापौर न पूर्व सरकार की घोषणा को पूरा करने के लिए पार्षद निधि का दुरुपयोग किया गया है। इसे लेकर शासन से पत्राचार किया जाएगा। सरकार के भेजे गए 12 बिंदु पर मूर्ति लगाने का उल्लेख नहीं है फिर भी निगम आयुक्त महापौर सरकार के आदेश को दर किनारे कर पार्षद निधि से मूर्ति लगाया गया है। जिसकी जांच होना जरूरी है और जो अधिकारी इसमें सहयोग किया गया है उन पर भी कार्रवाई होना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *