दुर्ग पुलिस द्वारा पाटन, अम्लेश्वर क्षेत्रांतर्गत लगातार हो रही बिजली तार चोरी का खुलासा ; विगत 02-03 वर्षों से बिजली तार की चोरी की घटनाओं को दे रहा था अंजाम ; ऑटो चालक निकला घटना का मास्टर माइंड

न्यूज़36 गढ़ संवाददाता – निलेश सिंह

दुर्ग:

थाना अम्लेश्वर क्षेत्रांतर्गत ग्राम झीट, जामगांव (एन) एवं थाना पाटन क्षेत्रांतर्गत ग्राम रूही, ग्राम बटेना, ग्राम अरसनारा, ग्राम आमापेन्ड्री, आम सांतरा, ग्राम फुण्डा, ग्राम पंदर, आम गुजरा एवं ग्राम चीचा के खेत-खार में सिंचाई हेतु लगे बिजली तारों की चोरी की लगातार शिकायतें प्राप्त हो रही थी, जिस पर थाना अम्लेश्वर एवं थाना पाटन में अगल-अगल वर्षों में अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया था। जिले के पाटन ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों के खेत-खार में सिंचाई की व्यवस्था हेतु लगे बिजली की तारे लगातार हो रही थी, चोरी की घटनाओं को अत्यंत ही गंभीरता से लेते हुये पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग रेंज दुर्ग राम गोपाल गर्ग (भापुसे) एवं पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र शुक्ला (भा.पु.से.) के द्वारा आरोपी की शीघ्र पतासाजी कर माल बरामदगी करने हेतु निर्देशित किया गया।

जिसके परिपालन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (अपराध/ग्रामीण) डॉ. अनुराग झा (रा.पु.से.) एवं उप पुलिस अधीक्षक (अपराध) मंणी शंकर चन्द्रा के मार्गदशन में पुलिस अनुविभागीय अधिकारी (पाटन) देवांश राठौर के नेतृत्व में एसीसीयू एवं पाटन, अम्लेश्वर थानों की एक संयुक्त टीम को कार्यताही हेतु लगाया गया। संयुक्त टीम द्वारा संदेहियों पर निगाह रखी जा रही थी, आदतन अपराधियों व जेल से रिहा हुए। अपराधियों से पूछताछ कर पतासाजी के प्रयास किये जा रहे थे, विशेष सूत्र भी लगाये गये थे एवं इसके साथ-साथ टीम द्वारा ग्रम रूही, ग्राम चतेना, ग्राम अरसनारा, ग्राम आमापेन्ड्री, ग्राम सांतरा, ग्राम फुण्डा, ग्राम पंदर, ग्राम गुजरा एवं ग्राम चीचा के खेत-खार के विशेष जगहों को चिन्हांकित करते हुए गस्त, पेट्रॉलिग एवं चेकिंग किया जा था।

इसी क्रम में दिनांक 27-28.02.2024 की मध्य रात्रि को एसीसीयू एवं थानों को संयुक्त टीम द्वारा पेट्रोलिंग करते वक्त ग्राम सांतरा खार क्षेत्र में एक ऑटो रिक्शा संदिग्ध अवस्था में दिखाई दिया, जिस में दो व्यक्ति आजाद चौक कुम्हारी निवासी ईश्वरी मानिकपुरी एवं बजरंग चौक मठपुरैना रायपुर निवासी कमलेश सिन्हा सवार थे। जिनके पास एक बोरी में बिजली तार एवं आरी ब्लेड थी, जिसके संबंध में पूछताछ करने पर संतोषप्रद जवाब नहीं दिया गया। जिस पर टीम द्वारा दोनों व्यक्तियों को थाना लाकर पूछताछ किया गया। प्रारंभिक पूछताछ पर टीम को गुमराह करते रहे, किन्तु सत्त व पृथक-पृथक पूछताछ करने पर ईश्वरी मानिकपुरी द्वारा विगत दो वर्षों से पाटन क्षेत्रांतर्गत ग्राम रूही, ग्राम बढेना, ग्राम अरसनारा, ग्राम आमापेन्ड्री, ग्राम सांतरा, ग्राम फुण्डा, ग्राम पंवर, ग्राम गुजरा एवं ग्राम चीचा एवं अम्लेश्वर क्षेत्रांतर्गत झीट, जामगांव (एम) में अपनी सायकल व मोटर सायकल से रात में रायपुर से आकर चिन्हित जगहों पर रूकना व प्रातः समय में खेत-खारों में जाकर सिंचाई की व्यवस्था हेतु लगे बिजली लार को पोल से काटकर चोरी की घटनाओं को अंजाम देना व अपने सहयोगी व साला कमलेश सिन्हा द्वारा स्वयं की ऑटों क्रमांक सी.जी.04 टी.ए.1525 में भर कर रायपुर ले जाकर दीपक परपानी को देना स्वीकार किया।

टीम द्वारा दीपक परपानी को रायपुर में घेराबंदी कर पकड़ा गया। दीपक परपानी द्वारा चोरी घटना के संबंध में पूछताछ करने पर ईश्वरी मानिकपुरी से विगत दो तीन वर्षों की जान पहचान होना बताया व साथ ही ईश्वरी मानिकपुरी द्वारा घटना करने के पश्चात् सुबह-सुबह फोन करके बताये जाने के पश्चात् दीपक परपानी के बताये स्थान पर बोरी में बिजली तार के बंडलों को ऑटो में भरकर रायपुर लाना, जिसे बाद में बुढ़ा तालाव रायपुर स्थित राकेश डागा के पास उसके गोदाम में 120 रू प्रति किलो में बेचकर पैसा आपस में बाटना स्वीकार किया। आरोपी के निशान देही घटना के प्रयुक्त 02 ऑटो वाहन, मोटर सायकल, बिजली तार, औरी ब्लैड, नगदी 5000 रू जुमला कीमती लगभग 5.50 लाख की मशरूका बरामद। अग्रिम कार्यवाही थाना पाटन व अम्लेश्वर से की जा रही है। फिलहाल मामले में आरोपियों ईश्वरी मानिकपुरी पिता रामदास मानिकपुरी उम्र 48 साल निवासी आजाद चौक कुम्हारी दुर्ग, कमलेश सिन्हा पिता अजीत सिन्हा उम्र 40 साल निवासी बजरंग चौक मठपुरैना रायपुर, दीपक परपानी पिता अमृतलाल परपानी उम्र 61 साल निवासी आमसिवनी जलाराम अपार्टमेन्ट रायपुर राकेश डागा पिता जी.एस. डागा उम्र 54 साल निवासी बुढ़ापारा रायपुर के विरूद्ध विधिवत कार्यवाही की जा रही है।

उक्त कार्यवाही में एसीसीयू से सउनि चन्द्रशेखर सोनी, प्रथान आरक्षक रूमन सोनवानी, चन्द्रशेखार बंजीर आरक्षक पंकज चतुर्वेदी, राजकुमार चन्द्रा, अश्वनी यदु, मेघराज घेलक, अजय ढीमर एवं थाना पाटन से निरीक्षक राजेन्द्र यादव, आरक्षक दुष्यंत भारती, महिला आरक्षक राजेश्वरी मस्तावर, थाना अम्लेश्वर से उनि पूनित राम सूर्यवंशी आरक्षक लक्ष्मी वर्मा की उल्लेखनीय भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *