एग्‍जाम के दौरान स्‍वास्‍थ्‍य का रखें विशेष ध्‍यान..

परीक्षा के दिनों में खानपान बेहतर कर सुस्ती दूर की जा सकती है। किसी भी कार्य के लिए उत्साह अहम है। शारीरिक स्वास्थ्य के साथ ही मानसिक रूप से मजबूती एकाग्रता बढ़ाती है। यदि खानपान सही नहीं है तो छोटे से छोटे काम को भी मन मार कर करते हैं। बहुत से विद्यार्थी इन दिनों चाय-काफी ज्यादा पीने लगते हैं। यह सही नहीं है, इन दिनों लंबी सीटिंग होती है। चाय-काफी से दूर रहें। दिन में ज्यादा से ज्यादा एक या दो कप चाय-काफी ले सकते हैं। इनमें भी शुगर का प्रयोग न करें या बेहद कम रखें। संतुलित आहार परीक्षा में अच्छे प्रदर्शन में अहम भूमिका निभा सकता है।

बच्चों में जरूरी है बैलेंस डाइट

परीक्षा के दौर में बच्चों को सेहतमंद रखने के लिए उनकी बैलेंस डाइट का होना भी जरूरी है. इसके लिए हरी पत्तेदार सब्जियां और फल जरूरी होते हैं.  मौसमी सब्जियां और फल विटामिन और पोषक तत्वों का अच्छा स्रोत होते हैं. तनाव के कारण शरीर को विटामिन और मिनरल्स की ज्यादा जरूरत होती है. ऐसे में सीजनल फ्रूट्स और वेजिटेबल इसका बेहतर जरिया है. इस मौसम में केले, संतरा, अमरूद, चीकू और अंगूर जैसे फलों को बच्चों को रोजाना खिलाया जाना चाहिए. इसी तरह परीक्षा के दौर में प्रोटीन के लिए दही को कम उपयोग में लेना चाहिए, क्योंकि इससे शरीर में आलस बढ़ता है. इसकी जगह पनीर, दालें, राजमा और छोलों को अपने तीन प्रमुख खाने में शामिल किया जाना चाहिए. इसी तरह मांसहार पसंद करने वाले अंडे, मछली या चिकन भी उपयोग में ले सकते हैं.

दिन में अच्छा फैट भी है आवश्यक

शरीर को ऊर्जावान बनाए रखने के लिए वसा का भी बहुत महत्व होता है. ऐसे में रेगुलर डाइट प्लान में गुड फैट का होना भी जरूरी है. खास तौर पर खाने में देसी घी का उपयोग ब्रेन की फंक्शनिंग में काफी मददगार साबित होता है. घी ओमेगा 3 का भी अच्छा स्रोत होता है, जो याददाश्त को बढ़ाने में सहायक साबित होता है. इसके अलावा सूखे मेवे और कुछ पोषक सीड्स को भी खान-पान में शामिल किया जा सकता है.

7-8 घंटे की नींद बेहद जरूरी

परीक्षा के दौर में तनाव कम करने के लिए नींद का पूरा होना जरूरी होता है. जितनी नींद अच्छी होगी, उतना ही तनाव कम होगा. इससे पढ़ा हुआ लंबे समय तक याद रहेगा, इसलिए कंफर्ट जोन के मुताबिक 7 से 8 घंटे की नींद का पूरा होना आवश्यक होता है. दिन के वक्त पावर नैप भी इसमें मदद कर हो सकता है.

कैल्शियम का स्रोत है दूध

मानसिक विकास व तेज दिमाग के लिए दूध जरूरी है। दूध में कैल्शियम व दूसरे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं। बच्चे को रोज एक गिलास दूध पिलाएं।

ड्राई फ्रूट देगा मानसिक मजबूती

ड्राई फ्रूट्स में दिमाग तेज करने के जरूरी पोषक तत्व पाए जाते हैं। सूखे मेवे दिमाग तेज करने के साथ मानसिक मजबूती देते हैं। बादाम, काजू, पिस्ता, खजूर, अखरोट, किसमिस आदि का निर्धारित मात्रा में सेवन करना चाहिए।

दही भी फायदेमंद

मानसिक सेहत के लिए दही फायदेमंद है। दही के सेवन से बच्चों के दिमाग की कोशिकाएं लचीली बनती हैं। रोजाना के भोजन में दही को शामिल करना चाहिए। ठंड के मौसम में रात को दही के सेवन से बचना चाहिए।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *