बंगाल में महिला मुख्यमंत्री होने के बाद भी महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं- ललन प्रताप 

अंबिकापुर संवाददाता – अजय गौतम

ममता सरकार के विरोध में भाजपा महिला मोर्चा का धरना प्रदर्शन। 

अंबिकापुर
पश्चिम बंगाल के संदेशखाली में ममता सरकार की शह पर टीएमसी के नेताओं द्वारा महिलाओं पर किए गए अत्याचार व अनाचार के विरोध में भाजपा महिला मोर्चा सरगुजा का एकदिवसीय धरना प्रदर्शन आज स्टेट बैंक, देव होटल के सामने भाजपा जिलाध्यक्ष ललन प्रताप सिंह के मुख्य आतिथ्य, जिला महामंत्री अभिमन्यु गुप्ता तथा भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष मधुसूदन शुक्ला के विशिष्ट आतिथ्य में आयोजित किया गया। धरना प्रदर्शन में महिला मोर्चा द्वारा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का जोरदार नारों के साथ पुतला दहन भी किया गया। इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष ललन प्रताप सिंह ने धरने को संबोधित करते हुए कहा कि अपनी मुस्लिम तुष्टीकरण की राजनीति के कारण ममता सरकार पश्चिम बंगाल में शाहजहां जैसे अपराधियों को संरक्षण देती है। सरकार की नाक के नीचे एक अपराधी ने बांग्लादेश से आकर संदेशखाली को अपने अपराध का अड्डा बना दिया।

आगे उन्होंने कहा कि बंगाल में महिला मुख्यमंत्री होने के बाद भी महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं, मैं महामहिम राष्ट्रपति जी से मांग करता हूँ कि बंगाल में तत्काल राष्ट्रपति शासन लगाया जाए। इस अवसर पर भाजपा महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष फुलेश्वरी सिंह ने कहा कि ममता सरकार के राज में महिलाएं ही सुरक्षित नहीं है। ये कैसी महिला मुख्यमंत्री है जो कहती है कि संदेशखाली की महिलाएं झूठ बोल रही है। हमें शर्म आती है ऐसी महिला मुख्यमंत्री पर। इस अवसर पर भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष मधुसूदन शुक्ला ने कहा कि जहाँ कानून का राज नहीं होता वहाँ शेख शाहजहां जैसे लोग पैदा होते हैं। संदेशखाली को अपराध का गढ़ बनाने में ममता सरकार की ही भूमिका है। ऐसी सरकार को उखाड़ फेंकना चाहिए। इस अवसर पर भाजपा जिला संवाद प्रमुख संतोष दास ने कहा कि संदेशखाली की घटना ने पूरे देश को शर्मशार किया है, शाहजहां जैसे अपराधियों को मौत की सजा मिलनी चाहिए। इस अवसर पर भाजयुमो जिलाध्यक्ष विश्व विजय तोमर ने कहा कि सत्ता के संरक्षण में महिलाओं पर अत्याचार के इस घटना से सर शर्म से झुक जाता है। संदेशखाली की पीड़ित महिलाओं को न्याय मिलना चाहिए। इस अवसर पर भाजपा वरिष्ठ नेता मुरारी बंसल ने कहा कि रविंद्र नाथ टैगोर और सुभाष चंद्र बोस की भूमि को कलंकित किया गया है।

संदेशखाली में महिलाओं की अस्मिता के साथ खिलवाड़ किया गया है। इस अवसर पर नगर महिला मोर्चा अध्यक्ष नीलम राजवाडे ने कहा कि संदेशखाली में हुई घटना से पूरे देश की नारी शक्ति आंदोलित है,ममता बनर्जी को अब महिलाएं ही सबक सिखाएँगी। धरने को इंदु कश्यप, किरण सोनी, आशा शुक्ला, शकुंतला पांडे, प्रियंका चौबे, संगीता जायसवाल, दीक्षा अग्रवाल, मीरा बैरागी, सरोज मिंज, ज्योति श्रीवास्तव , पूनम सिंह, भारती, सावित्री, जूलिया, मीना, नलिनी पांडे, संगीता कंसारी, प्रिया सिंह, अजय सिंह, सौरभ श्रीवास्तव, पूर्णिमा प्रजापति, नीरा यादव  अंजूशा शर्मा तथा सरस्वती यादव ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम का संचालन जिला महामंत्री रश्मि जायसवाल ने किया। इस अवसर पर भाजपा जिला सह संवाद प्रमुख रूपेश दुबे, विनोद दुबे, सर्वेश तिवारी, शरद सिन्हा, अंकित तिर्की, दीपक यादव, अभिनंदन सिंह, मुशर्रत अली सहित बड़ी संख्या में महिला मोर्चा पदाधिकारी कार्यकर्ता उपस्थित रहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *