वार्षिकोत्सव : छात्र-छात्राओं ने दी मनमोहक प्रस्तुति

नगरदा :

अटल बिहारी वाजपेयी शासकीय महाविद्यालय नगरदा, जिला सक्ति में वार्षिकोत्सव का आयोजन बड़े धूमधाम से किया गया। इस अवसर पर विभिन्न प्रतिस्पर्धात्मक कार्यक्रम जैसे रंगोली, पाक कला, सलाद सजा, पुष्प सज्जा, कुर्सी दौड़, जलेबी दौड़ आदि गतिविधियां भी आयोजित की गई साथ ही महाविद्यालय के छात्र – छात्राओं द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत मां सरस्वती के छायाचित्र में दीप प्रज्वलित कर सरस्वती वंदना के साथ हुआ। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में ठाकुर छेदीलाल बैरिस्टर अग्रणी महाविद्यालय जांजगीर से पधारे प्रोफेसर डॉ. पी.के. सिंह एवं विशिष्ट अतिथि डॉ. एम. आर.बंजारे सहायक अध्यापक अंग्रेजी शा.टीसीएल महाविद्यालय जांजगीर रहे। विशिष्ट अतिथि डॉक्टर बंजारे ने अपने उद्बोधन में कहा की ऐसे अवसर बच्चों में प्रतिभा निखारने के लिए ही आयोजित किए जाते हैं किंतु आजकल के बच्चे ज्यादातर सांस्कृतिक कार्यक्रमों में रिकॉर्डिंग डांस को ही प्राथमिकता देते हैं, यह उचित नहीं है, जबकि उन्हें अपने भीतर मौलिक रूप से छुपी हुई कला को निखारने, सामने लाने का प्रयास करना चाहिए।

मुख्य अतिथि डॉ पी के सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ में लोक कला की अनेक विधाएं हैं। जिसे ऐसे अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम के माध्यम से छात्र छात्राएं मंच पर पेश करते हैं हमारे छत्तीसगढ़ में पंथी, करमा, ददरिया, सुवा, जवारा, राउत नाचा आदि अनेक पारंपरिक गीत एवं नृत्य का प्रचलन रहा है। उन्होंने छात्रों को संबोधित करते हुए आगे कहा कि पढ़ाई के साथ-साथ हमें अपने जीवन में कुछ ऐसे प्रतिभा संपन्न काम करने चाहिए जिससे हमारी अलग पहचान बन सके। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि रहे श्री राजेंद्र कुमार राठौर प्रधान पाठक शासकीय प्राथमिक शाला चारपारा ने कला वाणिज्य विज्ञान तीनों संकाय के सभी कक्षाओं में उच्चतम अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थी को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

कार्यक्रम में विशेष रूप से पधारे पंडित लोचन प्रसाद पांडे शासकीय महाविद्यालय सारंगढ़ के प्राचार्य डॉ. डी .आर. लहरे द्वारा गत वर्ष के घोषणा अनुसार महाविद्यालय स्तर पर तीनों संकायों के अंतिम वर्ष में उच्चतम अंक प्राप्त करने वाले छात्र /छात्रा को अपनी धर्मपत्नी स्व. श्रीमती विमलादेवी लहरे के नाम से स्मृति सम्मान इक्कीस – इक्कीस सौ रू.नगद एवम प्रशस्ति पत्र प्रदाय कर सम्मानित किए। यह पुरस्कार बी ए अंतिम से कुमारी वीरतन, बी एस सी अंतिम से यामिनी साहू, बी कॉम अंतिम से अखिलेश को प्राप्त हुआ। उन्होंने मंच से इस पुरस्कार को आजीवन प्रदान करने की घोषणा भी किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे संस्था के प्राचार्य डा. के.पी. कुर्रे ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा की यह महाविद्यालय न्यूनतम संसाधनों में निरंतर प्रगति की ओर अग्रसर है। हमें गर्व है कि इस महाविद्यालय में लगभग 80 प्रतिशत छात्राएं अध्ययन करती है। बालिकाओं में उच्च शिक्षा के प्रति ऐसा रुझान वास्तव में गौरांवित करने वाला है।

कार्यक्रम का सफल संचालन हिंदी विभाग के सहायक प्राध्यापक डा. अरविन्द कुमार जगदेव ने किया। इस इस अवसर पर महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापक गण डॉक्टर अमित कुमार तिवारी, प्रो.मुन्ना लाल सिदार प्रो. आशीष दुबे, समस्त अतिथि व्याख्याता श्री रवि खूंटे श्री हेमंत चंद्राकर, सुश्री दीप्ति राठौर, श्री अमन गढ़वाल, कार्यालय स्टाफ में श्री मनोज कुमार राठौर, श्री आनंद कंवर, राम अवतार श्रीवास एवं महाविद्यालय में अध्यनरत समस्त छात्र छात्राएं, गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।

सक्ती संवाददाता – दीपक ठाकुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *