राजपुर का पोषण वाटिका बना आकर्षण का केन्द्र, शाला की वाटिका से अन्य शालाओं में भी जाति है सब्जी,

बस्तर संवाददाता – सुजाता चक्रवर्ती

 

बच्चो ने एक सप्ताह में ही बेची 4 हजार से अधिक की सब्जी

छात्र छात्रा कृषि के साथ व्यावसायिक शिक्षा की ओर अग्रसर

बस्तर जिला मुख्यालय से 50 किलोमीटर की दूरी पर बस्तर विकासखंड के प्राथमिक शाला पटेलपारा राजपुर के विद्यार्थी, शिक्षक, सफाई कर्मचारी और रसोईया ने मिलकर पोषण वाटिका तैयार किया है। पोषण वाटिका में गोभी, लौकी, सेमी और प्याज की खेती की गई है।जिससे प्रतिदिन बच्चों को मध्यान्ह भोजन में पौष्टिक सब्जियां खिलाई जाती है। बच्चों और शिक्षकों के मेहनत से अधिक पैदावार के फलस्वरूप ग्रामीण और आस पास के विद्यालय भी इसी विद्यालय से ताजी सब्जियां खरीदने लगे। ग्रामीण जन भी बड़े कार्यक्रमों के सब्जियां विद्यालय से खरीदकर बच्चों का उत्साहवर्धन करते हैं। छात्र छात्रा भी शिक्षा के साथ कृषि से व्यवसायिक शिक्षा की ओर अग्रसर हो रहे हैं। बच्चों ने पोषण वाटिका से बेची गई सब्जियों के प्राप्त राशि को गुल्लक में जमा करना प्रारंभ कर दिया। जिसे बच्चों ने 2 मार्च को तोड़ा जिसमे से कुल राशि 4 हजार से अधिक की राशि प्राप्त जिसे देखकर बच्चे अपनी इस कमाई से खुशी से झूम उठे , उनका उत्साह राशि को गिनते वक्त उनके चेहरे पर स्पष्ट रूप से झलक रहा था।

एकत्रित राशि में से कुछ राशि को बच्चों में वितरित कर कर पोषण वाटिका में विशेष सहयोग प्रदान करने वाले स्वीपर शांतनु कश्यप और ग्राम के युवा पूरन कश्यप को मेहनताना प्रदान कर शेष राशि को भविष्य में बीज व खाद के लिए सुरक्षित रखा गया है। विद्यार्थी स्वयं विद्यालय आकर प्रतिदिन पानी देने का कार्य व वाटिका की देखभाल करते हैं।शाला के प्रधान अध्यापक श्री पंचम राम नेगी ने बच्चों के इस पहले कमाई पर बधाई दी और कृषि को आय के रूप में अपनाने की सलाह दी। संकुल समन्वयक गजेंद्र सिंह ठाकुर भी नियमित रूप से इस शाला में कक्षा लेकर बच्चों और शिक्षकों के साथ कार्य में सहयोग प्रदान करते हैं।पोषण वाटिका को तैयार करने में विद्यालय के सभी छात्र छात्राओं प्रधान अध्यापक पंचम राम नेगी, संकुल समन्वयक गजेंद्र सिंह ठाकुर, स्वीपर शांतनु कश्यप ग्राम के युवा पूरन कश्यप, रसोईया सहादेव कश्यप एवं मेहतु सिन्हा का विशेष योगदान रहा।

क्या कहते हैं अधिकारी

इस सबन्ध में जिला शिक्षा अधिकारी श्रीमती भारतीय प्रधान ने कहा कि प्राथमिक शाला पटेल पर राजपूर में किचन गार्डन अन्य सभी शालाओं के लिए यह आदर्श है। यंहा के रसोइया सहित सभी कार्य करने वाले बधाई के पात्र हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *