0 1 min 5 mths

जांजगीर चांपा संवाददाता – राजेंद्र जायसवाल

 

राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस 10 फरवरी कार्यक्रम हेतु जिला समन्वय समिति की बैठक संपन्न

जांजगीर-चांपा 29 जनवरी 2024/ कलेक्टर श्री आकाश छिकारा के अध्यक्षता में आज समय समय की बैठक उपरांत राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस 10 फरवरी 2024 के संबंध में कलेक्टोरेट कार्यालय के सभा कक्ष में जिला कार्यबल की बैठक संपन्न हुई। बैठक में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस मनाए जाने की विस्तृत कार्य योजना पर चर्चा की गई। कलेक्टर ने सभी विभागों को निर्देशित कर कहा है कि अपने-अपने स्तर पर आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करें।
कलेक्टर ने राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस कार्यक्रम का आयोजन 10 फरवरी 2024 को समस्त आंगनबाड़ी केंद्र, शासकीय विद्यालयों, अनुदान प्राप्त शालाओं, केंद्रीय विद्यालयों, नवोदय विद्यालयों मदरसों, निजी विद्यालयों, महाविद्यालयो, तकनीकी शिक्षा संस्थानों, में 1 वर्ष से 19 वर्ष तक के आयु के सभी बच्चों, किशोर, किशोरियों के स्वास्थ्य एवं पोषण का स्तर, एनीमिया की रोकथाम बौद्धिक विकास तथा शाला उपस्थिति में सुधार हेतु कार्यक्रम चलाए जाने कहा है। तथा छूटे हुए बच्चों के लिए मॉप अप राउंड 15 फरवरी 2024 को करने के निर्देश दिए हैं।

बैठक में बताया कि जिले में 1 साल से 19 साल तक के आयु वर्ग के सभी बच्चों की लक्ष्य जनसंख्या लगभग 406275 है। एल्बेंडाजोल 400 मिलीग्राम की दवाई 1 से 2साल तक के बच्चों को आधी गोली चम्मच में घोलकर, 2 से 3 साल तक के बच्चों को पूरी गोली पीस कर, एवं 3 से 19 साल तक के बच्चों को एक गोली चबाकर खिलाया जाएगा। कृमि संक्रमण से बच्चों में कुपोषण के मुख्य कारक है शरीर में खून की कमी होने से शरीर कमजोर, थकान महसूस करती है शरीर का विकास पूर्ण रूप से नहीं होता मानसिक विकास में अवरोध पैदा करती है कृमि से होने वाले लक्षण में दस्त, पेट दर्द, भूख न लगना, कमजोरी व उल्टी लगना है, कृमि संक्रमण के बचाव हेतु एल्बेंडाजोल की एक खुराक से कृमि संक्रमण ठीक हो जाती है। कोई भी स्वास्थ्य संबंधी सलाह के लिए आपातकालीन नंबर 104, 108, 102 एवं 112 पर संपर्क कर सकते हैं।
बैठक में अपर कलेक्टर श्री एस पी वैद्य, जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री आर के खुंटे, अपर कलेक्टर श्रीमती लवीना पांडेय, अपर कलेक्टर श्री गुड्डू लाल लगत, सर्व एसडीएम, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग, जिला शिक्षा अधिकारी, उप संचालक समाज कल्याण विभाग, सिविल सर्जन, डीपीएम, जिला नोडल अधिकारी डॉ बी एल जागृति सहित जिला स्तरीय अधिकारी कर्मचारी के साथ तकनीकी सहयोगी एविडेंस एक्शन के जिला समन्वयक भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *