अंतरराष्ट्रीय बौद्ध सम्मेलन को ऐतिहासिक रूप से सफल बनाएं – राजेश श्यामकर

राजनांदगांव संवाददाता – संजय सोनी

भगवान बुद्ध के संदेश को आज के संदर्भ में और ज्यादा प्रासंगिक बताया

राजनांदगांव । प्रखर बौद्ध अनुयाई एवं जिला पंचायत के जुझारू सदस्य राजेश श्यामकर ने जारी एक बयान में कहा कि भगवान बुद्ध का संदेश आज के दौर में और ज्यादा प्रासंगिक हो गया है। श्री श्यामकर ने कहा कि बौद्ध धर्म का मुख्य संदेश है कि बुद्धम शरणम गच्छामि अर्थात बुद्ध की शरण में जाए जहां शांति मिलती है। लेकिन आज दुनिया युद्ध की शरण में जा रही है और परमाणु युद्ध का खतरा दुनिया को विनाश की ओर बड़ी तेजी से ले जा रही है ऐसे समय में व्यक्ति समाज राष्ट्र और दुनिया को यह संदेश पहुंचाये कि वे युद्ध के मुहाने से लौट कर भगवान बुद्ध की शरण में आए। निरस्तीकरण और विश्व बंधुत्व की भावना को सशक्त करें। जन जन में इस नेक विचार को पहुंचाएं। इससे व्यक्ति समाज और राष्ट्र सहित समूचा संसार शांति के साथ विकास और खुशहाली में जिएगा।

यदि बुद्ध के संदेश को नकार दिया जाता है तो विश्व विनाश तय है यह कहते हुए श्री श्यामकर ने बताया कि प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी राजनांदगांव जिले के सर्व धर्म समभाव की नगरी डोंगरगढ़ में 31 व अंतरराष्ट्रीय बौद्ध सम्मेलन आयोजित है जो इन्हीं विचारों को संपोषित करता है जिसमें विश्व के अनेक धर्म गुरु पधार रहे हैं। डोंगरगढ़ शहर के प्रज्ञागिरी तीर्थ में 6 फरवरी को 31वां अंतरराष्ट्रीय बौद्ध धम्म सम्मेलन का आयोजन प्रज्ञागिरी के संरक्षक एवं पूज्य भदंत धम्म सेनानायक आर्य नागार्जुन सुरई ससाई भंते जी के मार्गदर्शन एवं प्रज्ञा गिरी ट्रस्ट समिति के तत्वावधान में किया जाना है। जिसमें देश-विदेश के बड़ी संख्या में धर्मगुरु उपस्थित रहेंगे। कार्यक्रम में जापान के धम्म गुरु रेयुकेई सेयकी, केइवा नागासाकी, मीका नागासाकी, मासायो टोकुरा, मुत्सुकों तोयामा, चिनात्सु करिगाने, मिकी इनोकी, शोहई इनोकी, गेनशिरो सेईकी सहित थाईलैंड के धम्म गुरु अनुसिनधाडेट, दुसिट, नूनथावार, विचाई फोनोक, यू थाना सहित अन्य धम्म गुरु उपस्थित रहेंगे। आयोजन में छत्तीसगढ़, महाराष्ट, मध्य प्रदेश सहित अन्य राज्यों से बड़ी संख्या में लोग इस कार्यक्रम में धम्म गुरुओ के उदबोधन सुनने आते हैं। कार्यक्रम में उपस्थित लोगों के मनोरंजन के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन रखा गया है। उन्होंने लोगों से अधिक संख्या में उपस्थित होने की अपील की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *