0 1 min 5 mths

कवर्धा संवाददाता – आशीष सोनी

एक तरफ छत्तीसगढ़ सरकार जल्द प्रदेश से नक्सलवाद खत्म करने का दावा कर रही है तो दूसरी तरफ नक्सली भी अपना दायरा बढ़ाने में लगे हैं. कबीरधाम जिले में कई सालों बाद पुलिस नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई

कवर्धा: काफी लंबे समय बाद कवर्धा में पुलिस और नक्सलियों का आमना सामना हुआ है. घटना चिल्फी थाना अंतर्गत माराडबरा जंगल की है. मंगलवार शाम को पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि बोड़ला एरिया कमेटी के 7 हथियारबंद वर्दीधारी नक्सलियों को माराडबरा के जंगल की ओर जाते देखा गया है. इस सूचना के आधार पर पुलिस की टीम नक्सलियों का पता लगाने जंगल गई. जहां पहले से घात लगाए बैठे नक्सलियों ने पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की. लगभग 20 मिनट चली फायरिंग में पुलिस ने 49 राउंड फायरिंग की.

जवानों के हथियार लूटने की थी प्लानिंग: पुलिस की फायरिंग के बाद कमजोर पड़ते नक्सली पहाड़ी की आड़ लेकर भागने में कामयाब हो गए. फायरिंग बंद होने के बाद पुलिस ने जंगल में सर्चिंग शुरू की तो भारी मात्रा में नक्सलियों का दैनिक उपयोगी सामान बरामद हुआ. जब्त सामग्री को चिल्फी थाना में रखा गया है. घटना के बाद पुलिस ने जंगल में सर्चिंग बढ़ा दी है. एसपी अभिषेक पल्लव ने घटना की पुष्टि की.

समर, नवीन और जरीना समेत 7 वर्दीधारी नक्सली माराडबरा जंगल में देखने की सूचना के बाद पुलिस की एक टीम रवाना हुई लेकिन नक्सलियों ने हथियार लूटने की नियत से पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी. पुलिस ने नक्सलियों को सरेंडर करने बोला लेकिन नक्सली लगातार फायरिंग कर रहे थे तब पुलिस ने आत्मसुरक्षा में जवाबी फायरिंग किया- अभिषेक पल्लव, कवर्धा एसपी

छत्तीसगढ़ डीजीपी अशोक जुनेजा ने कुछ दिन पहले ही कवर्धा में मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ पुलिस की ज्वाइंट मीटिंग की थी. इस मीटिंग में नक्सल गतिविधियों के खिलाफ कारवाई करने पर अहम चर्चा हुई थी. नक्सलियों के खिलाफ बड़ी सर्जरी करने की बात कही गई थी. इस बैठक के कुछ दिन बाद ही मुठभेड़ की कार्रवाई हुई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *