0 1 min 4 mths

दीपक कश्यप/पेंड्रा –

दिनांक 23/01/2024 को भाजपा के मंडल महामंत्री और स्थानीय उपसरपंच अजय तिवारी को फोन आता है कि, भईया धान मंडी धनौली में एंट्री, ढाला, पलटी, तौल के बाद सिलाई के समय 5000 रुपए की रिश्वत आरएईओ त्रिपाठी के द्वारा मांगा जा रहा है..

तिवारी कहते हैं कि बात कराओ..फोन से बात कराने पर तिवारी ने कहा, कि “साहब देखिए आपके नाम से कौन अवैध वसूली कर रहा है..”
त्रिपाठी का जवाब आता है कि, “मैं तो बोला हूं..ये जो दो पत्रकार आकर बैठे हैं, उनको अपनी जेब से पैसा थोड़ी दूंगा, किसानों से लेकर ही तो दूंगा..”
ऐसा कहकर आरएईओ उस किसान को फोन लौटा देते हैं..अजय तिवारी उस किसान से कहते हैं कि “ये भाजपा की किसान हितैषी सरकार है, 1 रुपए की रिश्वत मत देना, मैं आ रहा हूं..”

5 मिनट बाद उस किसान का फोन आता है, कि “भाई ये आरएईओ तो सबके सामने चिल्ला चिल्ला के बेइज्जत कर रहा है..कि नेतागिरी कर ले, नेतागिरी करवा ले..अब तेरा धान खरीदी नही होगा, जब्ती करवाऊंगा..”

कुछ देर बाद उस आदिवासी गोंड गौंटिया का वास्तविक धान सिलाई होने के बाद भी जब्ती करा दिया जाता है..
इस घटना के बाद क्षेत्र के कई किसान रिश्वतखोरी की शिकायत लेकर सामने आ जाते हैं.. जिनमें एक ऐसी महिला किसान भी हैं, जिन्होंने इस भ्रष्ट रवैए का विरोध किया तो मंडी प्रांगण में ही उसे थप्पड़ मारने की बात कही गई ।

जब इस तरह के भ्रष्टाचार की लिखित शिकायत उच्चाधिकारियों को पहुंचती है और सक्षम अधिकारी दिनांक 31/01/2024 को मंडी धनौली में जाकर खरीदा जा चुका धान चेक करते हैं..तो कचरा, गर्दा, भूसा, लाई, बदरा धान देखकर अचंभित हो जाते हैं और पूरे मंडी को सील कर देते हैं..धान का उठाव बंद हो जाता है..
और भ्रष्टाचार करने के लिए पूरे मंडी स्टॉफ को दरकिनार कर एकक्षत्र राज करने वाले आरएईओ के ऊपर कार्यवाही की तलवार लटक जाती है..

इससे खिसियाकर आरएईओ का छोटा भाई विनय त्रिपाठी जिस पर लालपुर उद्यान और कोरिया में ड्यूटी के दौरान भ्रष्टाचार के कई आरोप लग चुके हैं,
अजय तिवारी को रात में फोन कर अपने बड़े भाई विजय त्रिपाठी के पक्ष में गाली गलौज और जान से मार देने की धमकी देता है..
संपूर्ण मामले की जानकारी संगठन के वरिष्ठ नेताओं को देकर, उनके निर्देश पर अगले दिन अजय तिवारी थाने में शिकायत दर्ज करा देते हैं..

अजय तिवारी से बात करने पर उन्होंने कहा -:

जो कार्यकर्ता हमारी पार्टी के लिए गली गली-घर घर जाकर वोट मांगता है, लोगों के सुख दुख में खड़ा रहकर अपने व्यक्तिगत संबंधों से पार्टी को वोट दिलाता है ।

उन कार्यकर्ताओं और आम जनता के मान सम्मान की रक्षा करना हमारा परम दायित्व है..खासकर तब, जब कोई भ्रष्टाचारी उन्हें प्रताड़ित कर रहा हो ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *