राज्यसभा चुनाव के लिए महागठबंधन की तय हुई डील, RJD को 2, तो कांग्रेस के हिस्से आया एक सीट, जानिए क्या है पूरा गणित

बिहार में होने वाले राज्यसभा चुनाव को लेकर इस महीने महागठबंधन की तरफ से सीट शेयरिंग लगभग तय हो चुकी है, विधायकों की संख्या के आधार पर राष्ट्रीय जनता दल के खाते में दो सीट जाना तय है, जबकि तीसरी सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार की जीत सुनिश्चित मानी जा रही है। वहीँ महागठबंधन में शामिल भाकपा माले यानि भारत की कम्युनिस्ट पार्टी ने भी पहले तीसरी सीट पर अपना दावा तय किया था, लेकिन उसकी जगह राष्ट्रीय जनता दल और कांग्रेस ने उसे विधानसभा चुनाव में एक सीट देने का भरोसा दिया है।

ख़बरों के मुताबिक बिहार विधान परिषद की 11 सीटों पर भी अगले महीने जून में चुनाव होना है, बिहार की 6 राज्य सभा सीटों के लिए अगले 27 फरवरी को मतदान होगा। इन 6 सीटों में तीन सीटों पर एनडीए उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित मानी जा रही है, दरअसल इनमें भाजपा से दो और जनता दल यूनाइटेड से एक सांसद का चुना जाना तय माना जा रहा है। वहीँ महागठबंधन के सूत्रों की माने तो आरजेडी ने दो और कांग्रेस ने एक सीट पर अपने सांसद बनने पर सहमति दे दी है।

भाकपा माले ने की राज्यसभा सीट की मांग

भाकपा माले ने कुछ महीने पहले ही लालू प्रसाद यादव से राज्यसभा की एक सीट देने की मांग रखी थी। अनुमान लगाया जा रहा था कि पार्टी अपने महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य को राज्यसभा भेजना चाहती है, हालांकि लालू प्रसाद यादव और कांग्रेस ने माले को विधान परिषद चुनाव में एक सीट देने का वायदा जरूर किया है। राजद के नेता की माने तो भाकपा माले ने राज्यसभा की एक सीट की मांग की थी, लेकिन इस बार राजद और कांग्रेस 6 में से तीन सीटों पर चुनाव लड़ेंगे।

सीटों का बंटवारा हुआ तय

राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष कांग्रेस की एक सीट के रूप में बिहार के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अखिलेश सिंह को राज्यसभा भेजने को इच्छुक हैं, वहीँ माले को एक ही सीट दी जाएगी। अगले जून महीने में विधान परिषद के चुनाव में राजद और कांग्रेस अपने वोटो को जोड़कर माले की एक सीट पर जीत सुनिश्चित करेंगे। सूत्रों की माने तो महागठबंधन में राज्यसभा चुनाव के लिए सीटों का बंटवारा तय हो चुका है, हालाकिं इसकी अधिकारी घोषणा 12 फरवरी को नीतीश सरकार के फ्लोर टेस्ट होने के बाद की जाएगी।

जाने सीटों का पूरा गणित

दरअसल राज्यसभा चुनाव के लिए अधिसूचना जारी हो चुकी हैं, जबकि नामांकन की आखिरी तारीख 15 फरवरी बताई जा रही है। आपको बता दें की राज्यसभा चुनाव में वोटर विधायक होते हैं, बिहार विधानसभा में महागठबंधन के विधायकों की मौजूदा संख्या 114 है, इस तरह महागठबंधन आसानी से 3 सीटों पर जीत दर्ज कर सकता है। राज्यसभा की एक सीट पर जीत के लिए 35 विधायकों के समर्थन की जरूरत होती है।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *