0 1 min 4 mths

भारतीय पेमेंट सिस्टम यूपीआई को घरेलू स्तर के साथ-साथ वैश्विक स्तर पर भी बड़ी सफलता मिल रही है। हाल ही में मॉरीशस और श्रीलंका में यूपीआई को लॉन्च किया गया है। इसके बाद अब ऐसे देशों की संख्या 10 को पार कर गई है। जहां यूपीआई का इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे पहले जनवरी में फ्रांस में यूपीओ को शुरू किया गया था। इसके बाद आप पेरिस के एफिल टावर का टिकट आसानी से खरीद सकते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीलंका और मॉरीशस में यूपीआई सर्विस शुरू होने के अवसर पर कहा कि आज हिंद महासागर क्षेत्र के तीन मित्र देशों के लिए एक विशेष दिन है। मेरा मानना है कि श्रीलंका और मॉरीशस को यूपीआई प्रणाली से लाभ होगा। उन्होंने कहा कि डिजिटल सार्वजनिक बुनियादी ढांचा भारत में क्रांतिकारी बदलाव लाया है। यूपीआई भारत के साथ साझेदारों को एकजुट करने की नई जिम्मेदारी निभा रहा है।

लेनदेन करना होगा आसान 

यूपीआई से विदेशों में लेनदेन होने का सीधा फायदा भारतीय लोगों को होगा। आसानी से बिना किसी झंझट के विदेशों में लेनदेन कर सकते हैं। इससे फॉरेक्स चार्ज भी कम लगेगा, जिसका परिणाम होगा कि आपको विदेशों में लेनदेन करना सस्ता पड़ेगा।

क्या है यूपीआई? 

यूपीआई एक भारतीय पेमेंट सिस्टम है। इसे सरकारी कंपनी नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन की ओर से डेवलप किया गया है। इसकी खास बात यह है कि इसमें पेमेंट करने के लिए ओटीपी की आवश्यकता नहीं होती है। आप केवल एक पिन दर्ज कर आसानी से भुगतान कर सकते हैं।

किन देश में चलता है यूपीआई 

  1. भूटान
  2. मलेशिया
  3. यूएई
  4. सिंगापुर
  5. ओमान
  6. कतर
  7. रूस
  8. फ्रांस
  9. श्रीलंका
  10. मॉरीशस

किन और देशों में होगा यूपीआई?

एक रिपोर्ट के अनुसार,भारत सरकार यूपीआई को अन्य देशों में भी शुरू करने को लेकर बातचीत कर रही है। इसमें ब्रिटेन,नेपाल, थाइलैंड, सऊदी अरब, ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका, बहरीन, जापान और फिलीपींस जैसे देशों का नाम शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *