0 1 min 4 mths

जांजगीर चांपा संवाददाता – राजेंद्र जायसवाल

विद्यार्थी की अंतर्निहित प्रतिभा मंच पर प्रस्तुत होने के बाद ही फनकार की सही पहचान होती है …अधिवक्ता चितरंजय पटेल

जिला शक्ति में श्रीकृष्ण संगीत महाविद्यालय सक्ती के द्वारा आज बसंत महोत्सव का आयोजन किया गया जिसमें शास्त्रीय गायन एवम् वादन, गिटार वादन, छत्तीसागढ़ी, फिल्मी गीतों के साथ भजनों की शानदार प्रस्तुति दी गई।
संगीत महाविद्यालय के संचालक दिनेश साहू ने प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए बताया कि विद्यालय के विद्यार्थियों के द्वारा सालाना उत्सव के पलों में अपने अर्जित कला का प्रदर्शन आज बसंत महोत्सव के मंच पर प्रस्तुत किया जा रहा है।
इन पलों में मंचासीन अभ्यागत राम अवतार अग्रवाल ने आयोजन की तारीफ करते हुए विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामनाएं तो वहीं उच्च न्यायालय अधिवक्ता चितरंजय पटेल ने कहा कि विद्यार्थियों की अंतर्निहित प्रतिभा जब मंच में प्रस्तुत होती है तब फनकार की सही पहचान होती है और आज स्थानीय फनकारों को श्री कृष्ण संगीत महाविद्यालय ने मंच प्रदान कर सराहनीय पहल किया है ।

कार्यक्रम में स्वागत भाषण संस्था के पूर्व संचालक वेदराम यादव ने किया तथा संस्था का परिचय बलभद्र शुक्ला ने दिया तो वहीं सफल मंच संचालन संयोगिता कुर्रे ने किया।
आज के कार्यक्रम में अंचल के सभी फनकारों ने अपनी सहभागिता सुनिश्चित कर एक से बढ़ कर एक प्रस्तुति देकर श्रोताओं का मन मोह लिया।सरस्वती शिशु मंदिर सक्ती के सभागार में आयोजित बसंत महोत्सव में श्री कृष्ण संगीत महाविद्यालय के वर्तमान एवम् भूतपूर्व शिष्यों ने मिलकर इस आयोजन को यादगार बना दिया तो वहीं प्रेमशंकर गबेल, भगत साहू आदि की मौजूदगी से आयोजन गरिमामय लग रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *