0 1 min 4 mths
राजनांदगांव संवाददाता – संजय सोनी
राजस्व अधिकारी अपनी जिम्मेदारी और दायित्वों को अच्छी तरह से समझें – कलेक्टर
– सीमांकन, नामांतरण, बंटाकन, ई-कोर्ट सहित राजस्व प्रकरणों को लक्ष्य निर्धारित कर शीघ्र निराकरण करने के दिए निर्देश
– अवैध अतिक्रमण हटाने और राजस्व वसूली के कार्य को प्राथमिकता से करने के दिए निर्देश
– पटवारी सप्ताह में एक दिन शिविर लगाकर जनसामान्य के राजस्व संबधी प्रकरणों का करें निराकरण
– भू-अर्जन प्रकरणों की मुआवजा राशि का वितरण प्राथमिकता से करने कहा
– बच्चों की पढ़ाई को देखते हुए निर्धारित मापदण्ड के अनुसार साउंड सिस्टम संचालित नहीं होने पर संबंधित के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करने के दिए निर्देश
– कलेक्टर ने ली राजस्व अधिकारियों की बैठक
 कलेक्टर श्री संजय अग्रवाल ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में राजस्व अधिकारियों की बैठक ली। कलेक्टर श्री अग्रवाल ने कहा कि विधानसभा सत्र चल रहा है। विधानसभा प्रश्नों के उत्तर प्राथमिकता के साथ समय-सीमा में भेजने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी राजस्व अधिकारी अपनी जिम्मेदारी और दायित्वों को अच्छी तरह से समझें और नियमों में रहकर कार्य करें। उन्होंने सभी अधिकारियों को जनसामान्य से संवेदनशीलतापूर्वक अच्छा व्यवहार करने कहा।
कलेक्टर श्री अग्रवाल ने राजस्व के लंबित प्रकरणों के निराकरण में गति लाने के निर्देश दिए। उन्होंने सीमांकन, नामांतरण, बंटाकन, ई-कोर्ट सहित राजस्व के प्रकरण को लक्ष्य निर्धारित कर शीघ्र निराकरण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने अभिलेख त्रुटि सुधार के स्थिति की जानकारी ली। उन्होंने अविवादित खाता विभाजन को समय-सीमा में करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सीमांकन के कार्य लंबित नहीं होना चाहिए। उन्होंने राजस्व अधिकारियों से कहा कि अवैध अतिक्रमण हटाने और राजस्व वसूली के कार्य को प्राथमिकता से करें। उन्होंने तहसीलों में रिकार्ड दूरूस्त कर रिकार्ड रूम में जमा करने कहा। उन्होंने कहा कि पटवारी अपने हल्का क्षेत्र में सप्ताह में एक दिन शिविर लगाकर जनसामान्य के राजस्व संबंधी प्रकरणों का निराकरण करेंगे। उन्होंने उच्च न्यायालय के दिशा-निर्देशों का पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने आरबीसी 6(4) की जानकारी ली तथा उन्होंने राजस्व विभाग के सभी अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि आरबीसी 6(4) के जितने भी प्रकरण आते हैं उस पर तत्काल कार्यवाही कर हितग्राहियों को आर्थिक सहायता राशि वितरण करने के निर्देश दिए। भू-अर्जन प्रकरणों की मुआवजा राशि को प्राथमिकता देते हुए वितरण कराएं। वृक्ष कटाई की अनुमति नियमानुसार देने के निर्देश दिए।
कलेक्टर श्री अग्रवाल ने कहा कि उच्च न्यायालय के निर्देशानुसार निर्धारित मापदण्ड के अनुरूप साउंड सिस्टम संचालित नहीं किया जाता है तो उस पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि साउंड सिस्टम किराये पर देते समय डेसीबल मीटर अवश्य लगा होना चाहिए। उन्होंने साउंड सिस्टम बेचने और किराये पर देने वाले दुकानों की जांच करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि परीक्षाएं नजदीक आ रही है। बच्चों की पढ़ाई को देखते हुए निर्धारित मापदण्ड के अनुसार साउंड सिस्टम संचालित नहीं होने पर संबंधित के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थाओं स्कूल-कॉलेज के आस-पास तम्बाकू, गुटका जैसे जर्दा वाले दुकान नहीं होनी चाहिए। ऐसे दुकानों पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बच्चों को नशे की गिरफ्त से दूर रखने के लिए ऐसे स्थानों पर विशेष ध्यान देते हुए कार्रवाई करने की जरूरत है। उन्होंने सड़क दुर्घटना के हितग्राहियों का प्रकरण उसी दिन बनाकर भेजने कहा। जिससे संबंधित हितग्राहियों को सड़क दुर्घटना की सहायता राशि शीघ्र मिल सके।
कलेक्टर ने कहा कि विकसित भारत संकल्प यात्रा अंतर्गत राजस्व प्रकरणों से संबंधित प्रकरणों का शीघ्र निराकरण कर जनसामान्य को लाभान्वित करें। उन्होंने अवैध प्लाटिंग पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए। धान खरीदी केन्द्रों में मौसम को देखते हुए कैप कव्हर की व्यवस्था करने के लिए कहा। उन्होंने मतदान केन्द्रों का भौतिक सत्यापन करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि भूमिहीन हितग्राहियों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लाभ मिलना चाहिए। इसके लिए विशेष तौर पर ध्यान देते हुए कार्य करें। श्रमिकों का श्रम विभाग में पंजीयन होना चाहिए ताकि श्रमिकों को शासकीय योजनाओं का लाभ मिल सके। राज्य शासन की महत्वांकाक्षी महतारी वंदन योजना से महिलाओं को लाभान्वित करने के लिए मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए।
कलेक्टर अग्रवाल ने सभी अधिकारियों को लोकसभा निर्वाचन 2024 की तैयारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि खुले में बोर नहीं होना चाहिए यह सुनिश्चित करें। उन्होंने अविवादित खाता विभाजन न्यायालय में लंबित प्रकरणों के निराकरण, ई-कोर्ट, डिजिटल हस्ताक्षर, भुईयां साफ्टवेयर, मानवाधिकार आयोग, वन अधिकार पट्टा, अतिवृष्टि एवं अल्पवृष्टि के कारण हुई फसल क्षति, अविवादित नामांतरण के अंतर्गत किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की। इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्रीमती इंदिरा नवीन प्रताप सिंह, संयुक्त कलेक्टर श्री खेमलाल वर्मा, एसडीएम श्री अरूण वर्मा, एसडीएम श्री अश्वन पुसाम, एसडीएम डोंगरगढ़ श्री गिरीश रामटेके एवं अन्य राजस्व अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *