0 1 min 4 mths

-बस्तर संभाग की संस्कृति एवं परंपराओं के लिए हमारी सरकार ने खोला पिटारा,अनुदान राशि देने में की लाखों रुपए की बढ़ोतरी

-बस्तर की संस्कृति एवं परंपरा की अपनी अलग पहचान किरण देव

आनंद झा/बस्तर – 

विधायक श्री किरण देव ने आज बजट सत्र के दौरान सदन में प्रश्न कल के दौरान सवाल पूछते कहा कि छत्तीसगढ़ प्रदेश अपने संस्कृति ,धरोहर, परंपरा एवं मेला मंडई के उत्सव मनाए जाने के लिए पूरे देश में जाना जाता है । साथ ही हमारे बस्तर संभाग में विश्व विख्यात दशहरा,चित्रकूट महोत्सव ,रामाराम मेला ,गोंचा पर्व एवं मेला ,मंडई , जात्रा एवं अपने परंपरा को समेटे हुए वर्ष भर बस्तर संभाग में कार्यक्रम होते रहते हैं । जो कि अपने आप में बस्तर की संस्कृति एवं कला को दर्शाता है । जो अपने आप में एक अनोखी परंपरा को वर्तमान में भी हमारे बस्तर के आदिवासी जनमानस इन सभी परंपराओं को मनाते आ रहे हैं ।

श्री देव ने कहा हमारा बस्तर दशहरा विश्व विख्यात है जिसे देशभर से लोग बस्तर दशहरा देखने आते हैं 75 दिनों तक चलने वाला हमारा बस्तर दशहरा अपने आप में हमारी संस्कृति को सजयों रखते हुए हम सभी बस्तरवासी वर्तमान में भी धूमधाम से हरसोउल्लास के साथ हम दशहरा बनाते हैं । साथी सुकमा में होने वाले रामाराम मेला ,चित्रकूट महोत्सव, गोंचा पर्व एवं गांव भर में होने वाले मेला ,मंडई एवं देवगुडी में होने वाले पूजा पाठ के लिए हमारे बस्तर की पहचान है । इन सभी परंपराओं का संजोग कर रखना हमारा दायित्व है ।

विधायक श्री किरण देव ने प्रश्न काल में छत्तीसगढ़ के संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल जी से जानना चाहा कि छत्तीसगढ़ शासन के द्वारा इन सभी त्योहारों के लिए शासन के द्वारा कितनी अनुदान राशि वर्तमान में दिया जा रहा है वही अनुदान राशि को बढ़ाने की बात सदन में रखी । जिस पर मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल जी ने विधानसभा में घोषणा करते हुए कहा कि बस्तर दशहरा के लिए पूर्व में पर्यटन एवं धर्मस्थ विभाग से 35 लाख दिया जा रहा था जिसे बढ़ाकर अब विश्व प्रसिद्ध दशहरा के लिए 50 लाख रुपए हर वर्ष अनुदान राशि दी जाएगी ,रामाराम मेले के लिए पूर्व में 10 लाख रुपए दिया जाता था ,जिसे बढ़ाकर 15 लाख रुपए,चित्रकूट महोत्सव के लिए पूर्व में 10 लाख रुपए दिया जा रहा था उसे बढ़ाकर 15 लाख रुपए एवं गोंचा महापर्व के लिए पूर्व में 3 लाख रूपये दिया जा रहा था जिसे बढ़ाकर 05 लाख रुपए देने की घोषणा किया ।

जिस पर जगदलपुर के विधायक श्री किरण देव ने बस्तर संभाग के विश्व प्रसिद्ध बस्तर दशहरा ,रामाराम मेला ,चित्रकूट महोत्सव एवं मेला, मंडई ,देव गुड़ियों एवं अन्य पर्वों के लिए राशि बढ़ाई जाने को लेकर छत्तीसगढ़ शासन के यशस्वी मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय व मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल को धन्यवाद ज्ञापित करते कहां की बस्तर संभाग के संस्कृति ,धरोवर एवं परंपरा एवं त्योहार के दिए राशि बढ़ाई जाने की मांग पर स्वीकृति देने के लिए सभी का आभार व्यक्त करते कहां की बस्तर संभाग को लेकर मेला मंडई ,जा त्रा एवं परंपराओं को समेटे हुए वर्ष भर आयोजन होते रहते हैं । जो अपने आप में एक अनूठी परंपरा है । बस्तर की संस्कृति की एक अलग पहचान पूरे देश एवं विश्व में जाना जाता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

चर्चा में