0 1 min 4 mths

विमल सोनी/बिलासपुर –

सरकंडा पुलिस ने सरकंडा पुलिस ने 2 दिन पहले घर से स्कूल के लिए निकली गायक छात्राओं को उड़ीसा के कटक में पकड़ा है। पुलिस के अनुसार दोनों छात्राएं स्कूल बंक कर सबसे पहले बिलासपुर से जांजगीर चांपा पहुंची । इसके बाद मोबाइल पर बात करते हुए उत्कल एक्सप्रेस में बैठी। दोनों छात्राओं को साइबर टीम के सहयोग और मोबाइल लोकेशन के आधार पर उड़ीसा के कटक में पकड़ा गया। पूछताछ के दौरान छात्राओं ने बताया कि उनके साथ किसी प्रकार का अन्याय नहीं हुआ है।

पुलिस के अनुसार सरकण्डा थाना क्षेत्र स्थित एक स्कूल में पढ़ने वाली तीन नाबालिग बालिकाएं स्कूल बंक कर रेलवे स्टेशन गई हुई थीं। जहां एक बालिका के परिजन का फ़ोन आने पर तीन में से दो बालिकाएं डांट-मार के डर से चलती ट्रेन में दौड़कर चढ़ गयीं।

मामले की गंभीरता को समझते हुए तत्काल पुलिस अधीक्षक राजनेश सिंह अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र जायसवाल, नगर पुलिस अधीक्षक पूजा कुमार को अवगत कराया गया। बालिकाएं जिस ट्रेन में बैठी थीं वह कोरबा की ओर जा रही थी। कोरबा पहुंचने के बाद दोनों बालिकाएं जांजगीर तक अन्य ट्रेन के माध्यम से आयीं।

इसके बाद लड़की पुरी की ओर जाने वाली उत्कल एक्सप्रेस में चढ़ गयीं। दोनों बालिकाओं से परिजनों की अलग-अलग मोबाईल नम्बरों से बात हो रही थी। अलग-अलग नम्बरों की सायबर सेल के माध्यम से लोकेशन प्राप्त करने के बाद आरक्षक मनोज बघेल के साथ बालिकाओं के परिजन तत्काल ओडिशा रवाना हुए।

उत्कल एक्सप्रेस की रनिंग स्टेटस के आधार पर आरपीएफ पोस्ट कटक से समन्वय स्थापित कर दोनों बालिकाओं को कटक रेलवे स्टेशन पर जनरल बोगी से रिकवर किया गया। दोनों बालिकाएं सकुशल चाइल्ड केयर सेंटर में हैं। अपने साथ किसी भी प्रकार का अपराध होने का कथन नहीं किया है। दोनों बालिकाओं को थाना लाकर विधिवत कार्यवाही उपरांत परिजनों को सुपुर्द किया जाएगा।

मामले में वरिष्ठ अधिकारियों का मार्गदर्शन लगातार प्राप्त हुआ। आरपीएफ सीनियर डीएससी आदित्य (IRPFS), आरपीएफ पोस्ट कटक प्रभारी इंस्पेक्टर अनिल सिंह, आरपीएफ (क्राइम) सब इंस्पेक्टर एस.के. मिंज का सराहनीय योगदान रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *