0 1 min 4 mths

युसूफ खान/बलरामपुर –

भारत सरकार युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय नई दिल्ली, क्षेत्रीय निदेशालय भोपाल एवं उच्च शिक्षा विभाग छत्तीसगढ़ शासन के निर्देशानुसार यूथ-20 विकसित भारत 2047 के परिप्रेक्ष्य में शासकीय महाविद्यालय बलरामपुर में युवा संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में जिले के आठ महाविद्यालयों के राष्ट्रीय सेवा योजना के 40 स्वयंसेवक प्रतिभागी के रूप में शामिल हुए।

युवा संवाद कार्यक्रम में विकसित भारत के लक्ष्य की प्राप्ति हेतु भारत के युवाओं की साझेदारी को बढ़ाने हेतु विभिन्न शीर्षकों जैसे-सपनों की उड़ान में चुनौतियां, विकसित भारत में राष्ट्रशक्ति, बुनियादी ढांचों का विकास, जनशक्ति, विकसित भारत के लक्ष्य की प्रतिबद्धता, विकसित भारत व जैविक विविधता इत्यादि विभिन्न विषयों पर चर्चा किया गया।

कार्यक्रम की शुरुआत राष्ट्रीय सेवा योजना के प्रेरणास्रोत राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं आदर्श पुरुष स्वामी विवेकानंद के छायाचित्र पर दीप प्रज्वलन कर किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे श्री नन्द कुमार देवांगन जिला संगठक द्वारा स्वागत उद्बोधन दिया गया, जिसमें उन्होंने विकसित भारत एवं युवा समाज से संबंधित कुछ विभिन्न बिंदुओं से स्वयंसेवकों को अवगत कराया। उद्बोधन की अगली कड़ी में मुख्य अतिथि डॉ. एस. एन. पाण्डेय द्वारा विकसित भारत की योजना को विस्तृत रूप में स्वयंसेवकों के समक्ष प्रस्तुत किया गया एवं बताया गया कि किस प्रकार युवा देश को 2047 तक विकसित होने की कड़ी में अपना योगदान दे सकते हैं। तत्पश्चात् विभिन्न महाविद्यालयों से आये 40 विद्यार्थियों ने अपनी प्रस्तुति दी, निर्णायक मंडल ने सभी प्रस्तुति का निष्पक्ष होकर निर्णय लिया।

इस क्रम में अरुण प्रताप सिंह देव शासकीय महाविद्यालय शंकरगढ़ की स्वयंसेविका कुमारी ममता पैंकरा प्रथम स्थान पर द्वितीय स्थान पर विनय कुमार यादव शासकीय महाविद्यालय राजपुर एवं तृतीय स्थान पर दीपक कुमार चौबे लरंगसाय स्नातकोत्तर महाविद्यालय रामानुजगंज ने प्राप्त किया, सभी प्रतिभागियों को सहभागिता प्रमाण पत्र प्रदान किया गया सभी निर्णायक गण ने पूरे कार्यक्रम में हुए युवा संवाद की समीक्षा करते हुए कहा कि उन्हें विकसित भारत की संकल्पना में शासन प्रशासन के साथ-साथ स्वयं की भूमिका का भी निर्वहन करना अनिवार्य होगा और अपने समकक्ष युवाओं को भी इस हेतु प्रेरित करना होगा। मुख्य अतिथि के द्वारा भी इस कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा गया कम समय होते हुए भी हमारे युवा किस प्रकार अपनी बात को सबके समक्ष रख रहे हैं इससे निश्चय ही हमारा विकसित भारत का सपना पूरा होगा।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में डॉ. एस. एन. पाण्डेय समन्वयक राष्ट्रीय सेवा योजना संत गहिरा गुरु विश्वविद्यालय अंबिकापुर, जिला संगठन राष्ट्रीय सेवा योजना श्री एन. के. देवांगन, डॉ. अर्चना गुप्ता, श्री रमेश खैरवार एवं श्री जगदीश खुसरो, श्री गुलशन केरकेट्टा, श्री श्रीराम मरावी, श्रीमती लीलावती पैंकरा, श्रीमती अनुभा मिंज, प्राध्यापक श्री ओम शरण शर्मा, श्री योगेश राठौर, डॉ. अश्वनी विश्वकर्मा, श्री अनिल पाल, श्री आनंद चौबे एवं सभी प्राध्यापकों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कर महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

चर्चा में