केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह आज प्रदेश दौरे पर आ रहे हैं। उनके दौरे से ठीक एक दिन पहले भाजपा ने कांग्रेस को बड़ा झटका दिया है। कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक और कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे महेन्द्रजीत सिंह मालवीया ने पार्टी को जोरदार झटका दिया है। मालवीया कांग्रेस छोड़ सोमवार को भाजपा में शामिल हो गए और विधायक पद से त्यागपत्र दे दिया है।

उन्होंने अपना इस्तीफा विधानसभा सचिवालय को भेज दिया है। ख़बरों के मुताबिक भाजपा उन्हें लोकसभा या विधानसभा चुनाव लड़वा सकती है। वहीँ बता दें की, मालवीया चार बार विधायक, एक बार लोकसभा सांसद रह चुके हैं। कांग्रेस राज में दो बार मंत्री भी रह चुके हैं। माना जा रहा है कि मालवीया के आने से भाजपा आदिवासी बेल्ट में मजबूत होगी।

लोक सभा चुनाव के लिए अमित शाह बिगुल फूंकने आज राजस्थान आ रहे हैं। बता दें कि भारतीय जनता पार्टी ने इसबार 400 पार का नारा दिया है। इसी के तहत आज अमित शाह राजस्थान की 9 लोकसभा सीटों का दौरा करेंगे। ख़बरों के मुताबिक कहा जा रहा है की उनके इस दौरे के बाद सियासी हवा बदल जाएगी। दरअसल खबरें हैं कि कई कांग्रेसी नेता जल्द ही अपना पाला बदल कर भाजपा के खेमे में आ सकते हैं। बता दें कि 19 फरवरी को दिग्गज आदिवासी नेता महेंद्रजीत सिंह मालवीय 40 साल तक कांग्रेस में रहने के बाद बीजेपी में शामिल हो गए हैं।

मोदी की नीतियों ने किया प्रभावित

भाजपा प्रदेश कार्यालय में सोमवार को प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह, प्रदेशाध्यक्ष सी.पी. जोशी, वरिष्ठ नेता राजेन्द्र राठौड़ ने मालवीया को दुपट्टा पहनाकर औपचारिक रूप से सदस्यता ग्रहण कराई। इस दौरान मालवीया ने संगठन, पीएम से मानगढ़ धाम को राष्ट्रीय स्मारक घोषित करने की मांग भी रख दी। जल्द रेल लाइन का काम पूरा करने की जरूरत जताई। मालवीया ने कहा, मोदी की नीतियों ने मुझे प्रभावित किया है। पार्टी में आने से पहले उन्हें विधायक पद से इस्तीफा देना पड़ा, क्योंकि वे दल बदल कानून के दायरे में आ रहे थे।

भाजपा के एक तीर से कई शिकार

वहीँ लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की गणित बिगाड़ने और सियासी मजबूती के लिए भाजपा का यह बड़ा स्ट्रोक माना जा रहा है। पार्टी ने ऐसा कर भारत आदिवासी पार्टी (बीएपी) से होने वाले संभावित नुकसान की भी भरपाई करने की कोशिश की है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *